“ख़ामोशी का अपना एक अलग ही मज़ा है,
पेड़ो की जड़ें फड़फड़ाया नहीं करती दोस्त।”



“ख़ामोशी का अपना एक अलग ही मज़ा है, पेड़ो की जड़ें फड़फड़ाया नहीं करती दोस्त।”