“जब सारी दुनिया सोती है तब तू जगता है,
ऐ चाँद आशिक तू भी गजब का ही है।”


Categories: LoveShayari[#1071]

“जब सारी दुनिया सोती है तब तू जगता है, ऐ चाँद आशिक तू भी गजब का ही है।”