हमारे लिए उनके दिल में चाहत ना थी ,
किसी ख़ुशी में कोई दावत ना थी ,
हमने दिल उनके कदमों में रख दिया ,
पर उन्हें ज़मीन देखने की आदत ना थी।



हमारे लिए उनके दिल में चाहत ना थी , किसी ख़ुशी में कोई दावत ना थी , हमने दिल उनके कदमों में रख दिया , पर उन्हें ज़मीन देखने की आदत ना थी।